Latest Posts

नितीश सरकार का बड़ा ऐलान- दफ्तरों में अब पूरी क्षमता के साथ होगा काम, इन शर्तों के साथ स्कूंल-कॉलेज भी खुलेंगे

बिहार में 7 जुलाई से अनलॉक-4 का ऐलान किया गया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद इसके लिए नई गाइडलाइन का ऐलान किया. नए निर्देश के मुताबिक बिहार के सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय अब पूरी क्षमता से काम करेंगे.

50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ रेस्टोरेंट और कैटरिंग की दुकानें भी खुलेंगी। इसके साथ ही विश्वविद्यालयों, सभी कॉलेजों, तकनीकी शिक्षण संस्थानों, सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों, 11वीं और 12वीं तक के स्कूलों को भी 50% छात्रों की उपस्थिति के साथ खोलने की अनुमति दी गई है।

बिहार में अनलॉक-3 6 जुलाई को खत्म हो रहा है. सोमवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में अनलॉक-3 के नतीजों की समीक्षा की गई. समीक्षा में पाया गया कि राज्य में कोरोना के मामलों में लगातार गिरावट आ रही है. इसके साथ ही कुछ मामलों में अभी भी सावधानी बरतने की जरूरत है।

सोमवार को सीएम नीतीश ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट के जरिए बताया कि बिहार में सभी सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालय सामान्य रूप से खोलने का निर्णय लिया गया है. टीका लगाए गए आगंतुक कार्यालय में प्रवेश कर सकेंगे। रेस्टोरेंट और खाने-पीने की दुकानें 50 फीसदी बैठने की क्षमता के साथ चल सकेंगी। अभी भी सावधानी की जरूरत है। विश्वविद्यालय, सभी कॉलेज, तकनीकी शिक्षण संस्थान, सरकारी प्रशिक्षण संस्थान, कक्षा XI और XII तक के स्कूल 50% छात्रों की उपस्थिति के साथ खुलेंगे। शिक्षण संस्थानों के वयस्क छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी।

सिर्फ टीका लगवा चुके कर्मचारी ही पाएंगे प्रवेश

Also Read-  डेल्टा प्लस संस्करण ने मध्य प्रदेश में अपना पहला जीवन लिया

अनलॉक-4 में सभी सरकारी, गैर-सरकारी कार्यालय सभी कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए खोल दिए गए हैं, लेकिन जिन्हें टीका लगाया गया है उन्हें ही प्रवेश मिलेगा. जाहिर है कि हर कर्मचारी-अधिकारी के लिए कोरोना का टीका लगाना अनिवार्य होगा। इसके लिए राज्य में विशेष अभियान भी चलाया जा रहा है।

छात्रों शिक्षकों को लगेगा टीका

विश्वविद्यालयों, स्कूलों और कॉलेजों में सभी शिक्षकों, कर्मचारियों और वयस्क छात्रों का टीकाकरण किया जाएगा। इसके लिए विशेष इंतजाम किए जाएंगे। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्कूल-कॉलेज-विश्वविद्यालयों और अन्य शिक्षण संस्थानों में केवल 50 प्रतिशत उपस्थिति की अनुमति दी गई है. शिक्षण संस्थानों में सभी को कोरोना प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.