Latest Posts

सावन माह हरियाली अमावस्या 2021- कल सावन माह की अमावस्या, इन शुभ मुहूर्त में करें पूजा, दूर होंगे दुख-दर्द

सावन माह हरियाली अमावस्या- हिंदू धर्म में पूजा के दौरान शुभ मुहूर्त मनाया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शुभ मुहूर्त में पूजा करने से कई गुना अधिक फल मिलता है। कल सावन मास की अमावस्या है। सावन अमावस्या को श्रवण अमावस्या या हरियाली अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है। इस अमावस्या का बहुत महत्व है। अमावस्या के दिन पितृ संबंधी कार्य भी किए जाते हैं। मान्यता है कि इस दिन पूजा करने से पितरों को मोक्ष की प्राप्ति होती है। अमावस्या पर भगवान विष्णु की पूजा का भी विशेष महत्व है। इस दिन विधि-विधान से पूजा-अर्चना करने से सभी दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। आइए जानते हैं अमावस्या पूजा- विधि और शुभ मुहूर्त…

अमावस्या पूजा – विधि –

hariyali-amavsya-2021

सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें। इस दिन पवित्र नदी या सरोवर में स्नान करने का महत्व बहुत अधिक होता है, लेकिन इस समय कोरोना वायरस के चलते घर से बाहर निकलने से बचें। इस समय घर में नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करें।

स्नान के बाद घर के मंदिर में दीपक जलाएं।

सूर्य देव को अर्घ्य दें।

अगर आप व्रत रख सकते हैं तो इस दिन भी व्रत रखें.

इस दिन पिता से जुड़े कार्य करने चाहिए।

पूर्वजों के लिए प्रसाद और दान करें।

इस पवित्र दिन पर अधिक से अधिक ईश्वर का ध्यान करें।

इस पवित्र दिन पर भगवान विष्णु की पूजा का विशेष महत्व है।

इस दिन विधि-विधान से भगवान शंकर की पूजा करें।

शुभ मुहूर्त

ब्रह्म मुहूर्त – 04:21 AM to 05:04 AM

Also Read-  लव राशिफल: मेष, कन्या, तुला राशि वालों को आज मिलेगी खुशखबरी, हो रहे हैं विवाह

अभिजीत मुहूर्त – दोपहर 12:00 बजे से दोपहर 12:53 बजे तक

विजय मुहूर्त – दोपहर 02:40 बजे से दोपहर 03:33 बजे तक

गोधूलि मुहूर्त – 06:53 अपराह्न से 07:17 अपराह्न

रवि पुष्य योग – 05:46 AM to 09:19 AM

सर्वार्थ सिद्धि योग – 05:46 पूर्वाह्न से 09:19 पूर्वाह्न तक

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.